Hindi
Tuesday 21st of August 2018

अमेरिका, ब्रिटेन और आले सऊद बहरैनी जनता के क़ातिल

इससे पहले जमीयत अलवफ़ाक़ ने एक बयान में कहा था कि बहरैनी नागरिकों के खिलाफ़ आले ख़लीफ़ा सरकार के बढ़ते अत्याचारों से देश की राजनीतिक, सिक्योरिटी और आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही है।

अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबनाः प्राप्त सूत्रों के अनुसार बहरैन की अमल इस्लामी पार्टी ने एक पैग़ाम में आले ख़लीफा सरकार की पॉलिसियों की आलोचना करते हुए कहा है कि इस मुजरिम सरकार ने इन दिनों सजा-ए-मौत, नागरिकता को समाप्त करना और नागरिकों को देश बदर करने जैसे कार्यों को बढ़ावा दिया हैं।
बयान में कहा गया है कि आले ख़लीफा सरकार बहरैन के नागरिकों के ख़िलाफ़ बर्बरता दर्शा रही है।
अमल इस्लामी पार्टी ने आले ख़लीफ़ा सरकार के अत्याचारों के संबंध में विश्व संगठन की खामोशी की भी आलोचना करते हुए कहा कि वह बहरैन में शिया मुसलमानों के दिरुद्ध जुर्म, आले ख़लीफ़ा सरकार के अन्याय को ज़ाहिर करता है।
अमल इस्लामी पार्टी ने बहरैनी इंकलाब के सातवीं सालगिरह के मौक़े पर सरकार के खिलाफ़ प्रतिरोध बढ़ाए जाने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा है कि आले ख़लीफ़ा सरकार के समाप्त होने तक बहरैनी नागरिकों का प्रतिरोध भरपूर तरीक़े से जारी रहने की आवश्यकता है।
इससे पहले जमीयत अलवफ़ाक़ ने एक बयान में कहा था कि बहरैनी नागरिकों के खिलाफ़ आले ख़लीफ़ा सरकार के बढ़ते अत्याचारों से देश की राजनीतिक, सिक्योरिटी और आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही है।

latest article

      बूट पालिश करने वाले लूला डिसिल्वा भी ...
      बहरैनी शिया धर्मगुरू आयतुल्लाह ईसा ...
      सीरिया में मिला इस्राईली हथियारों का ...
      अमरीका को अर्दोग़ान की कड़ी चेतावनी, ...
      सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामनई से ...
      सीरिया में चार रूसी सैनिकों की मौत।
      ईरान की जासूसी के लिए तेलअवीव में ...
      इस्राईल सैनिक फायरिंग में तीन ...
      सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई ने ...
      ईरान में क़ुद्स दिवस की रैलियां

user comment